महाराष्ट्र की सियासत में एक बार फिर ‘लेटर बम’ फटा है. शिवसेना विधायक प्रताप सरनाईक (Shiv Sena MLA Pratap Sarnaik) ने महाराष्ट्र के मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे (CM Uddhav Thackeray) को एक पत्र लिखा है. प्रताप सरनाईक ने अपने पत्र में सीएम उद्धव ठाकरे से बीजेपी से हाथ मिलाने की अपील की गई है.


शिवसेना विधायक प्रताप सरनाईक (Shiv Sena MLA Pratap Sarnaik) ने महाराष्ट्र के मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे (CM Uddhav Thackeray) को पत्र में लिखा है, ‘एनसीपी (NCP) और कांग्रेस (Congress) को अपना मुख्यमंत्री चाहिए.’ उन्होंने लिखा कि कांग्रेस अकेले चुनाव लड़ना चाहती है और एनसीपी शिवसेना से नेताओं को तोड़ रही है. इस स्थिति को देखते हुए ऐसा लगता है कि एनसीपी को केंद्र से परोक्ष समर्थन प्राप्त है क्योंकि एनसीपी नेताओं के पीछे कोई सेंट्रल एजेंसी नहीं लगी है.

प्रताप सरनाईक के पत्र में आगे लिखा कि वो उद्धव ठाकरे और उनके नेतृत्व में विश्वास करते हैं लेकिन कांग्रेस और एनसीपी हमारी पार्टी को कमजोर करने की कोशिश कर रही हैं. उन्होंने आगे लिखा कि ‘मेरा मानना है कि अगर आप पीएम मोदी के करीब आते हैं तो और बेहतर होगा. अगर हम एक और बार साथ आए तो ये पार्टी और कार्यकर्ताओं के लिए बहुत फायदेमंद होगा. हमारी बिना किसी गलती के केंद्रीय एजेंसियां हमें निशाना बना रही हैं, अगर आप पीएम मोदी के करीब आए तो रविंद्र वायकर, अनिल परब, प्रताप सरनाइक जैसे नेताओं और उनके परिवारों की पीड़ा समाप्त हो जाएगी.’


इस पत्र पर बीजेपी नेता किरीट सोमैया ने कहा, शिवसेना विधायक प्रताप सरनाईक जेल जाने को लेकर चिंतित दिख रहे हैं इसलिए अब सीएम उद्धव ठाकरे से पीएम मोदी, बीजेपी से हाथ मिलाने को कह रहे हैं. सभी घोटालेबाज प्रताप सरनाईक, अनिल परब, रवींद्र वायकर.. जेल के गेस्ट होंगे। कांग्रेस नेता संजय निरुपम ने कहा, ‘हमने तो शुरुआत से ही कहा है कि हम अलग से चुनाव लड़ेंगे. इसमें शिव सेना को इतना बुरा क्यों लग रहा है. क्या पार्टी अपने आगे की नीति तय नहीं करेगी? निरुपम ने कहा, ये सहयोगी दलों का षड़यंत्र हो सकता है कांग्रेस को कमजोर करने का.


शिवसेना नेता संजय राउत (Sanjay Raut) ने भी ऐसा ही बयान दे दिया है. राउत ने दो टूक कह दिया है, ‘चुनाव में कुछ गठबंधन होते हैं मगर लड़ाई अपने दम पर लड़ी जाती है. चाहे महाराष्‍ट्र की अस्मिता का मुद्दा हो या शिवसेना के अस्तित्‍व का, यदि हमें अकेले लड़ना पड़ा तो हम लड़ेंगे.’ शिवसेना सांसद संजय राउत ने कहा कि पार्टी के 55वें स्‍थापना दिवस पर सीएम और हमारे पार्टी प्रमुख ने उन लोगों को बता दिया है जो लोग महाराष्‍ट्र में अकेले चुनाव लड़ने की बात कर रहे हैं. राउत ने कहा, ‘यदि वे अकेले चुनाव लड़ेंगे तो क्‍या हम चुपचाप बैठे रहेंगे? जो लड़ना चाहते हैं, वो अकेले चुनाव लड़ें. हम भी ऐसा ही करेंगे. शिवसेना हमेशा अपनी ताकत पर ही लड़ाई करती है.’

About Author

Naina Shrivastava

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *