New Delhi: पुजारी के परिवार की तरह ही बीजेपी के कपिल मिश्रा राहुल राजपूत (Rahul Rajput) के परिवार की मदद के लिए आगे आए हैं. उन्होंने इंसानियत की वो परिभाषा पेश की है, जो शायद हर किसी को सीखना चाहिए. कपिल मिश्रा (Kapil Mishra) ने मदद का ऐसा हाथ बढ़ाया कि सिर्फ 3 घंटे में ही 3 लाख रुपए जुटा लिए. उनका कहना है कि- यहां ना राहुल गांधी आएंगे, और ना ही केजरीवाल आएंगे. इसलिए हमें मिलकर राहुल के परिवार की मदद करनी है.

कपिल मिश्रा ने ट्वीट किया कि मैं और TajinderBagga भाई मिलकर भी आये और MODIfiedVikas जी के साथ ये अभियान शुरू किया है राहुल के परिवार के लिए. एक परिवार का जवान बेटा छीन गया, जिसकी मदद के लिए हमें मिलकर आगे आना है.

कपिल मिश्रा ने कहा कि- हम 10 लाख रुपए एकत्र करने का प्रयास कर रहे हैं जिससे राहुल की बहन की शिक्षा और राहुल के पिताजी की गाड़ी की किश्ते दी जाएंगी.. इस अभियान का नेतृत्व सामाजिक कार्यकर्ता तजिंदर बग्गा और कपिल मिश्रा द्वारा किया जा रहा है.अभियान से जुटाई गई धनराशि को सीधे राहुल राजपूत के परिवार के खाते में स्थानांतरित कर दिया जाएगा.

18 साल के राहुल एक मेहनती छात्र थे जो इसे बड़ा बनाना चाहते थे.. वह द्वितीय वर्ष के पत्रकारिता के छात्र थे.. निजी तौर पर, उन्होंने बच्चों को अंग्रेजी भाषा की कोचिंग भी दी.. वह अपने माता-पिता के जीवन में एक बड़ी खाली जगह छोड़ देता है.. राहुल पढ़ाई में प्रतिभाशाली था और पेंटिंग का भी शौक था.. वह इसमें इतना अच्छा था कि वह 10 मिनट में एक पोटरेट बना सकता था। उसका परिवार मदद का हकदार है.

About Author

Naina Shrivastava

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *