New Delhi: जवाहर लाल नेहरू यूनिवर्सिटी (JNU) छात्र संघ के पूर्व अध्यक्ष और कम्युनिस्ट पार्टी ऑफ इंडिया (सीपीआई) के नेता कन्हैया कुमार ने आय दिन सरकार पर निशाना साधते रहते हैं. ऐसा कोई मुद्दा नहीं जिसपर कन्हैया की प्रतिक्रिया ना आई हो. 10 अक्टूबर को भी कन्हैया ने एक ऐसा ही ट्वीट किया था, जिस पर यूजर्स ने भी बहुत दिलचस्पी दिखाई थी.

कन्हैया कुमार ने ट्वीट कर लिखा था कि- हमने तो पहले ही कहा था देश में धर्म नहीं, लॉजि’क खत’रे में है. कन्हैया कुमार के इस ट्वीट पर जमकर रिट्वीट किय गया. एक यूजर ने लिखा कि- लॉजिक ख’तरे में है ही. और सच्चाई की राह पर चलने वाले भी ख’तरे में सवाल पूछने वाले ख’तरे में आम आदमी खत’रे में है… मां बहन खत’रे में किसान खत’रे में है देश का भविष्य खत’रे में है क्योंकि हमने सरकार ही खतरना’क चुना…

वहीं, हाल ही में कन्हैया ने कहा कि- बेगूसराय जिले में लोकसभा चुनाव के दौरान जिले में जो जोरन (दही जमाने के लिए प्रयोग में ली जाने वाली दही) दिया था वही बिहार विधानसभा चुनाव में दही जमाने का काम कर रहा है…

अगर मेरे लोकसभा चुनाव के कैंपेन को देखेंगे तो हमारी ल’ड़ाई किसी भी लोकतां’त्रिक, धर्मनिरपेक्ष, समाजवादी ताक’तों से नहीं है… हमारी ल’ड़ाई उन ताक’तों से है जो इस देश के मू’ल्यों में सामाजिक न्या’य, सामाजिक एकता, धर्मनिरपेक्षता, सामाजिक सौहा’र्द के खिला’फ हैं…

हमने लोकसभा चुनाव के दौरान भी तनवीर जी आरजेडी के खिला’फ कभी कुछ नहीं बोला… कांग्रेस के खिला’फ कुछ नहीं बोला..मुकेश सहनी, जीतन राम मांझी या उपेंद्र कुशवाहा के खिला’फ भी कुछ नहीं बोला.. हमारी लड़ा’ई साफ है.. हमने कहा कि राजनीति नेता पर नहीं नीति पर केंद्रित होना चाहिए..

About Author

Naina Shrivastava

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *