New Delhi: भारत-तिब्बत सीमा पुलिस ने अपने परोपकार के कार्य से पूरे देश में का दिल जीत लिया है. ITBP के जवानों का ये वीडियो सोशल मीडिया पर खूब वायरल हो रहा है. जहां एक महिला की जान बचाने के खातिर इन जवानों ने अपनी जान जोखिम में डाल दी. वायरल वीडियो में आप देख सकते हैं कि कैसे जवानों ने एक घायल महिला को बचाया, जो उत्तराखंड के पिथौरागढ़ जिले के एक दूरदराज के गांव के पास एक पहाड़ से दु’र्घटनाव’श गिर गई थी.

महिला को बचाने के लिए, 14वीं बटालियन आईटीबीपी के जवानों ने सभी बाधाओं को भी पार गए, मानसून में इन इलाकों में जाना सबसे ज्यादा खतरना’क माना जाता है. लेकिन जनसेवा के आगे इन जवानों को अपनी जा’न की भी परवाह नहीं होती है.

बाढ़ से घिरे नालों ’(नालियों / नहरों / नालों), टू’टे हुए मार्गों, भूस्खलन-ग्रस्त क्षेत्रों में, ये हिमवीर’ महिला को स्ट्रेचर पर लादकर 15 घंटे तक 40 किलोमीटर तक चले. ITBP के 25 जवानों ने महिला को स्ट्रेचर पर लादकर उसकी जान बचाई.

खबरों के अनुसार, 20 अगस्त को पिथौरागढ़ जिले के मुनस्यारी संभाग के एक दूरदराज के गाँव लसपा की महिला बारिश के कारण पहाड़ी से गिर गई थी और उसका पैर टूट गया था. हेलिकॉप्टर के देरी से आने की सूचना मिलने पर आईटीबीपी के जवान अपनी बॉर्डर आउटपोस्ट से उस महिला को बचाने के लिए गांव गए, जिसकी हा’लत बि’गड़ रही थी.. गाँव उस चौकी से लगभग 22 किलोमीटर की दूरी पर है जहाँ ITBP के जवानों को ज्यादातर पैदल यात्रा करनी पड़ती थी.

इसके बाद, उन्होंने उसे पहाड़ी इलाके में एक दूर के रोड हेड पर ले गए जहां से उसे अस्पताल पहुंचाया गया..हालांकि, जवानों की वजह से महिला की हालत में सुधार हुआ. ITBP का मानवता का कार्य सोशल मीडिया में वायरल हो गया है जिसमें कई उपयोगकर्ता प्रशंसा के शब्दों का इस्तेमाल कर रहे हैं और जवानों को धन्यवाद दे रहे हैं.

About Author

Naina Shrivastava

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *