New Delhi: 1 जनवरी 2021 से सभी जीवन बीमा कंपनियों (Life Insurance Company) को अनिवार्य रूप से एक मानक, व्यक्तिगत बीमा पॉलिसी बेचना होगी. जिसका नाम ‘सरल जीवन बीमा होगा (Saral Jeevan Bima) . IRDAI ने सभी व्यक्तिगत बीमा कंपनियों के साथ दिशानिर्देश साझा किया है.

।Goel, CEO और PolicyX.com के संस्थापक ने कहा कि- उद्योग विशेषज्ञ अनिवार्य सरल जीवन बीमा की शुरुआत से खुश हैं क्योंकि उनका मानना ​​है कि यह देश में समावेश और बीमा की पकड़ बनाने में मदद करेगा…

यह आईआरडीए द्वारा एक शानदार कदम है. वर्तमान में टर्म प्लान के साथ सबसे बड़ी समस्या यह है कि ज्यादातर कंपनियों के लिए 3 लाख + या 5 लाख + आय की पात्रता आवश्यक है, जिसका अर्थ है कि 98% भारतीय आबादी एक टर्म प्लान के लिए पात्र नहीं है…

अगर कंपनियां कम आय वाले सेगमेंट के लिए छोटी राशि सुनिश्चित योजना के साथ आती हैं, तो निश्चित रूप से टर्म प्लान के प्रवेश में मदद मिलेगी.. साथ ही मानक टर्म प्लान की पेशकश से निर्णय लेने में आसानी होगी और योजना खरीदते समय ग्राहकों का विश्वास बढ़ाने में मदद मिलेगी

IRDAI ने अपने सर्कुलर में सभी लाइफ इंश्योरेंस कंपनियों को इस साल 31 दिसंबर तक IRDAI के साथ प्रोडक्ट फाइल करने को कहा ..आईआरडीएआई हालांकि, बीमाकर्ता पहले उत्पाद को दर्ज कर सकते हैं और 1 जनवरी 2021 से पहले भी मंजूरी दे सकते हैं.

इससे पहले नियामक ने सभी स्वास्थ्य बीमा कंपनियों को इसी तरह का एक स्टैंडर्ड स्वास्थ्य बीमा प्रॉडक्ट बेचने का निर्देश दिया था, जिसका नाम है आरोग्य संजीवनी.. सरल जीवन बीमा एक नॉन-लिंक्ड नॉन-पार्टिसिपेटिंग इंडिविजुअल प्योर रिस्क प्रीमियम लाइफ इंश्योरेंस प्लान है। पॉलिसी टर्म के दौरान बीमा धारक की मृ’त्यु होने पर यह प्रॉडक्ट उसके नॉमिनी को सम अस्योर्ड का एक मुश्त भुगतान करेगा..आत्महत्या को छोड़कर इस प्रॉडक्ट में और कोई भी एक्सक्लूजन नहीं होगा। इस प्रॉडक्ट को लेने के लिए स्त्री-पुरुष, निवास स्थान, यात्रा, पेश या शिक्षा से जुड़ी कोई पाबंदी नहीं होगी।

About Author

Naina Shrivastava

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *