New Delhi: आजकल ऐसे कई लोग हैं, जो घर से बिजनेस की शुरूआत करना चाहते हैं, लेकिन उनके सामने बजट की समस्या आ जाती है. इसलिए आज हम आपको कुछ ऐसे टिप्स बता रहे हैं जो आपको बिजनेस करने से पहले एक बार जरूर जान लेना चाहिए. ये बिल्कुल आपके बजट में होगा.

7000 रुपए लगाकर जिनीषा जैन घर की रसोई से ही अपने बिजनेस की शुरूआत की. जाइका टिफिन सर्विस के नाम से शुरू हुआ ये बिजनेस अब तक दो वर्षों में 1500 से अधिक भोजन परोस चुका है.नई दिल्ली के मोती नगर में रहने वाली जिनीषा जैनघरेलू शेफ बन गई हैं. उन्होंने 2 वर्षों में 1500 से अधिक भोजन परोसे हैं, और नोएडा और दिल्ली से उसके पास 350 से अधिक ग्राहक हैं.

यह सब 2018 में शुरू हुआ जब अपने अपार्टमेंट में घर से ही टिफिन सेवाओं की शुरूआत हुई. दरअसल, एक बार किसी का फोन आया कि क्या कोई टिफिन सर्विस है. लेकिन ऐसी कोई सुविधा नहीं थी, तो उन्होंने मुझे मदद करने के लिए कहा- उन्होंने फोन पर कहा कि- क्या वह उनके पति के लिए खाना बना सकती हैं. जिनीषा सहमत हो गई. पड़ोसी को खाना इतना पसंद आया कि उन्होंने उन्हें इसके बिजनेस की शुरूआत करने की सलाह दी. जिनीषा ने बिजनेस वेंचर के बारे में ज्यादा ध्यान नहीं दिया. कुछ देर बाद फिर एक बार किसी का कॉल आया.

जिनीषा को हर कोई इस बिजनेस की शुरूआत करने की सलाह देता. प्रारंभ में टिफिन की कीमत 70 रुपए थी। इसमें दो सब्जी व्यंजन (एक सूखा और एक ग्रेवी), रोटी और चावल के साथ होता था…वह कहती हैं, ” मैं अपनी स्कूटी पर एक घर से दूसरे घर जाने के लिए टिफिन पहुंचाती थी… एक टिफिन ऑर्डर के साथ शुरुआत की, जो धीरे-धीरे बढ़ता गया. आज कई व्हाट्सएप ग्रुप हैं, जहां वह लोगों को खाना ऑर्डर करती है. उनका कहना है कि उनके ग्राहकों ने उन्हें अन्नपूर्णेश्वरी (भोजन की देवी) की उपाधि दी है, जो कहती हैं कि यह उनकी सबसे बड़ी उपलब्धि है.

जिनीषा के टिप्स

आपको वह खाना परोसना चाहिए जो आप और आपका परिवार भी खा सकता है. टिफिन के लिए अलग से कोई भोजन तैयार नहीं किया जाता है. जो भी टिफिन में बाहर भेजा जा रहा है वह हमारे द्वारा घर पर भी खाया जाता है.

  • उनका कहना है कि कभी भी ज्यादा निवेश ना करें. कच्चे माल की लागत के अलावा, जिनिशा का कहना है कि उसने शुरुआत में पैसे खर्च किए थे 15 स्टील टिफिन वाहक थे, जिसमें भोजन उसके ग्राहकों तक पहुंचाया गया था। लगभग 540 रुपए की लागत वाले प्रत्येक वाहक के साथ, जिन शुरुआती निवेश जिनेशा ने अपने व्यवसाय में किए, वह सभी में 7000रुपए से अधिक नहीं थे… “छोटे से शुरू करो, और एक बार जब आप व्यवसाय को पूरा करने के लिए आश्वस्त हो जाते हैं, तो आप हमेशा जो कुछ भी ज़रूरत होती है उसे खरीदने के लिए अधिक पैसा लगा सकते .
  • जिनीषा कहती हैं कि कभी भी आप मेनू ना रखें. ,अगर आप रविवार को चोले-भटूरे और सोमवार राजमा-चवाल ही देते हैं, जो आपके मेनू में शामिल है तो लोग इससे बहुत जल्द ऊब जाते हैं. मैं हमेशा उनके पूछती रहती हूं. मैं वही बनाती हूं जो मेरे ग्राहक को पसंद है. और आप भी वही करेंगे तो आपके कस्टमर बने रहेंगे.
About Author

Naina Shrivastava

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *