New Delhi: नेशनल कॉन्फ्रेंस के सांसद और पूर्व सीएम फारूक अब्दुल्ला (Farooq Abdullah) 113 करोड़ रुपए के घोटाले में घिरे हैं. श्रीनगर में प्रवर्तन निदेशालय(ED) के कार्यालय पहुंचे.. उन्होंने कहा कि- ये पूछताछ सालों से चलती आ रही है, कोई नई बात नहीं है. वो अपना काम कर रहे हैं, मैं अपना काम कर रहा हूं.. मुझे इस बारे में कुछ नहीं कहना.. कोर्ट फैसला करेगा..

यह मामला साल 2012 में जम्मू-कश्मीर क्रिकेट एसोसिएशन में करीब 113 करोड़ रुपए के गबन से जुड़ा है. 113 करोड़ का ये घोटाला मार्च 2012 में सामने आया था, जब जेकेसीए के कोषाध्यक्ष मंज़ूर वज़ीर ने पूर्व महासचिव मोहम्मद सलीम खान और पूर्व कोषाध्यक्ष अहसान मिर्ज़ा के खिला’फ पुलिस शिकायत दर्ज की थी. ईडी द्वारा यह पूछताछ श्रीनगर में की जा रही है.

इससे पहले साल 2019 में ईडी ने अगस्त में अनुच्छेद 370 के प्रावधान निरस्त करने से पहले फारूक से सवाल किए थे. फारूक को इस साल की शुरुआत में हाउस अरेस्ट से रिहा किया गया था, उसके बाद उनके बेटे उमर अब्दुल्ला और पीडीपी प्रमुख महबूबा मुफ्ती रिहा की गईं.

ED का मामला केंद्रीय जांच ब्यूरो (CBI) की एफआईआर पर आधारित है, जिसमें बाद में जांच एजेंसी ने JKCA के पूर्व पदाधिकारियों के खिला’फ भी मामला दर्ज किया था.

About Author

Naina Shrivastava

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *