New Delhi: अब मेरे पिता को कौन वापस लाएगा , कौन मेरे सपनों को पूरा करेगा…प्लीज मेरे पापा को वापस लाओ, वो मेरा सपना पूरा करेंगे. वो मुझे डॉक्टर बनते हुए देखना चाहते थे. शहीद अशरफ की बेटी के मुंह से निकले ये शब्द सुनकर वहां मौजूद हर कोई रो पड़ा. हर किसी की आंखें नम हो गई. शहीद की बेटी DGP के गले लगकर फूट-फटूकर रोने लगी.

सोमवार को आ’तंकी ह’मले में श’हीद पुलिस इंस्पेक्टर अशरफ के घर पर मातम का माहौल था… दूर- दूर से लोग उनके घर अफसोस करने पहुंचे हुए थे. डीजीपी ने परिवार को पूरी मदद का आश्वासन दिया. बेटी को रोता हुआ देख DGP ने उसे गले से गला लिया.

शहीद अशरफ बेटी को डॉक्टर बनाना चाहते थे

शहीद इंस्पेक्टर मोहम्मद अशरफ  भट की दो बेटियां आलिया व तौसीफ  तथा एक बेटा माजिद है.. अशरफ अपनी बेटियों को डॉक्टर बनाना चाहता था जबकि एक बेटी हाल ही में नीट की परीक्षा में भी बैठी थी.

About Author

Naina Shrivastava

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *