New Delhi: Tanishq विवाद ने तूल पकड़ लिया है. सोशल मीडिया पर तनिष्क को लेकर यूजर्स लगातार अपनी प्रतिक्रियाएं दे रहे हैं. देशभर में लोगों ने ट्विटर पर Tanishq के खिला’फ प्रतिक्रियाएं दीं, कुछ प्रतिक्रियाएं तनिष्क के सपोर्ट में भी रहीं, अब पहली बार देश के गृहमंत्री अमित शाह ने तनिष्क को लेकर अपनी विचार रखे.

न्यूज 18 को दिए एक इंटरव्यू में अमित शाह ने तनिष्क विवा’द को छोटी घट’ना कहा. इस दौरान अमित शाह ने ओवरएक्टिविज्म के खिला’फ चेतावनी भी दी. उन्होंने कहा, मेरा मानना है कि अति-सक्रियता का कोई रूप नहीं होना चाहिए.

Amit Shah ने आगे कहा कि- ऐसे छोटी घटना’एं देश की सामाजिक सद्भाव को नहीं तोड़ सकती हैं. देश की जड़ें मजबूत हैं. भारत में सामाजिक समरसता की जड़ें बहुत मजबूत हैं. इस पर ऐसे कई हम’ले हुए हैं. अंग्रे’जों ने इस सद्भाव को तो’ड़ने की कोशिश की, बाद में कांग्रेस ने भी यही कोशिश की. लेकिन उनकी कोशिशें कामयाब नहीं हुईं.

क्या था Tanishq Add में

तनिष्क विवादों में अपने एक विज्ञापन की वजह से आया. जिसे लोगों ने तनिष्क के एड को लव जिहाद बताया. विवादों में आने के बाद तनिष्क ने अपना विज्ञापन हटा लिया. सोशल मीडिया के जरिए लोग तनिष्क (Tanishq) का बायकॉट किया. लोगों का कहना है कि इस विज्ञापन के जरिए लव जिहाद को दिखाया जा रहा है. हालांकि, सोशल मीडिया पर कुछ लोग तनिष्क के सपोर्ट में भी उतरे हैं.

एक यूजर ने ट्वीट करके लिखा कि- इतनी प्यारी और खूबसूरत एड फिल्म के पीछे जरूर ए बहुत खूबसूरत सोच का इंसान होगा. बस उस इंसान की वजह से इस बार दीवाली पर हमारा अपॉयमेंट फिक्स. तनिष्क तुमपर नाज है, इस भारतीयता को दिल से सेलिब्रिटे करते हैं हम.

बता दें कि इस विज्ञापन में एक हिंदू लड़की की मुस्लिम परिवार में शादी दिखाई गई है. इस विज्ञापन को देखने के बाद कई लोगों ने इसकी आलोचना की है. वहीं, तनिष्क ने कहा-अनजाने में हुई इस गलती के लिए हमें खेद है..

एक्ट्रेस दिव्या दत्ता ने दी थी आवाज-

Tanishq के एड में आवाज दिव्या दत्ता ने दी थी. विज्ञापन हटाने को लेकर दिव्या दत्ता ने दुख जताया..उन्होंने कहा कि इस विज्ञापन का मतलब आपसी विश्वास बढ़ाना और भाईचारे को दिखाना था.. सोशल मीडिया पर दिव्या दत्ता का ट्वीट खूब वायरल हो रहा है.

उन्होंने कहा कि इस विज्ञापन का मतलब आपसी विश्वास बढ़ाना और भाईचारे को दिखाना था.. यह बात अभिनेत्री ने सोशल मीडिया पर एक यूजर को जवाब देते हुए कही .. आगे कहा कि क्या हम सब भाईचारे को बढ़ावा नहीं देते ? यह हमारी आत्मा है.. अनेकता में एकता, बचपन में सुनते थे.. ऐसे तो कितने विज्ञापन होते थे कोई कुछ नहीं कहता था..

About Author

Naina Shrivastava

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *