New Delhi: खबर आई थी कि नेशनल सिक्योरिटी डिपॉजिटरी लिमिटेड ने ग्रुप के तीन विदेशी निवेशकों के अकाउंट को फ्रीज कर दिया है, जिसके बाद कंपनी के शेयर गिरने लगे, लेकिन स्पष्टीकरण आने के बाद भी कंपनी के शेयर गिर रहे हैं. हमने कंपनी के CFO जुगेशिंदर सिंह से बात की.

शेयर मार्केट में सोमवार से ही अडाणी ग्रुप के शेयरों (Adani Group Stock Value) के लिए मुसीबत बनी हुई है. सोमवार को खबर आई थी कि नेशनल सिक्योरिटी डिपॉजिटरी लिमिटेड ने ग्रुप के तीन विदेशी निवेशकों- Albula Investment Fund, Cresta Fund और APMS Investment Fund के अकाउंट को फ्रीज कर दिया है, जिसके बाद कंपनी के शेयर गिरने लगे और ग्रुप की फ्लैगशिप कंपनी अडाणी इंटरप्राइजेज़ के शेयर 25 फीसदी तक गिर गए, वहीं ग्रुप की सारी कंपनियों के शेयरों में लोअर सर्किट लग गया.

हालांकि, NSDL ने बाद में ग्रुप को स्पष्टीकरण दिया था कि कंपनी के शेयरहोल्डरों के खाते एक्टिव हैं, और एक्शन किसी दूसरे केस में लिया गया है. अडाणी ग्रुप ने भी इसपर बयान जारी किया था और मीडिया रिपोर्ट्स की आलोचना की थी. कंपनी ने बताया था कि निवेशकों के अकाउंट्स एक्टिव हैं लेकिन इसके बाद भी अडाणी ग्रुप के शेयरों में ज्यादा सुधार नहीं है. आज भी अडाणी गैस, अडाणी ट्रांसमिशन और अडाणी पावर के शेयरों में लोअर सर्किट लगा है.

सिटी गैस को लेकर उन्होंने कहा कि यह उनके लिए बहुत अहम है क्योंकि यह बिजनेस-टू-कस्टमर टाइप का बिजनेस है. चूंकि यह टियर टू और टियर थ्री शहरों में भी फैल रही है, ऐसे में इसपर कंपनी का फोकस है.

साभार- NDTV HINDI

About Author

Naina Shrivastava

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *